आज,रमज़ान के महीने तीस दिन के आशीर्वाद से भरे रोज़े और भगवान के दिव्य नेमतों और आध्यात्मिक आशीर्वाद के बाद ईद अल-फितर का दिन है। इसको मूल मानव उत्कृष्टता की दिशा में एक वास्तविक प्रस्थान क़रार दें। (अयातुल्ला खमेनी, 2007/10/13)