IQNA

म्यांमार के झूठे वादों पर संदेह;
15:03 - October 04, 2017
समाचार आईडी: 3471873
अंतर्राष्ट्रीय समूह: बांग्लादेश में रोहिंग मुस्लिम शरणार्थियों का कहना है कि म्यांमार सरकार उनके वादों के बारे में उनकी अनिश्चितता उनके देश में स्वीकार करने के कारण है क्योंकि उनके घरों को जलाया जाना जारी है।
रोहिंग्यों के घर को जलाया जाना जारी है
इंटरनेशनल कुरान न्यूज एजेंसी (IQNA) ने रायटर के मुताबिक बताया कि पिछले पांच हफ्तों में म्यांमार के सैनिकों ने पांच लाख से अधिक रोहंगिया मुस्लिम परीशान किया जिस की वजह से बांग्लादेश भाग गए हैं।
म्यांमार का यह दावा है कि मुस्लिम जातीय के साथ युद्ध आतंकवादियों की सफाई है।
बांग्लादेश और म्यांमार ने सोमवार को सहमति व्यक्त किया कि इस देश में मुसलमान जिनका नाम शरणार्थियों रूप में पंजीकृत है म्यांमार लौट आएंगे, लेकिन बांग्लादेश के शिविरों में रहने वाले को इस पर कोई भरोसा नहीं है।
रोहंग्या का अब्दुल्ला नामी शरण लेने वाला आदमी का कहना है कि "सब कुछ जलाया जा चुका है, यहां तक कि लोगों को भी जलाया ग़या है।कीसी के पस म्यांमार में रहने का कोई भी अधिकार नहीं है
रशीदा बेग़म जो सोमवार को बांग्लादेश आई हैं कहती हैं कि फौजी लोग घर आकर बचे लोगों को घर छोड़ने की चेतावनी दे रहे हैं। लोगों को घरों से बाहर निकाल कर घरों को जला दिया।

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :